शीर्ष विदेशी मुद्रा ट्रेडिंग किताबें

SWOT विश्लेषण क्या है

SWOT विश्लेषण क्या है
4. पर्यावरणीय चुनौतियों का विश्लेषण (Analysis of Environmental Threats) :- उद्यम या व्यवसाय संबंधी पर्यावरणीय चुनौतियों से आशय व्यवसाय उन विपरित परिस्थितियों से है जो संस्था के संचालन में बाधा उत्पन्न करती हैं । जिसके फलस्वरूप व्यवसाय का विकास रुक जाता है । इसी का विश्लेषण करना ही पर्यावरणीय चुनौतियों का विश्लेषण करना कहलाता है ।

ताकत, कमजोरी, अवसर और खतरा (SWOT) विश्लेषण हिंदी में | What is SWOT Analysis details in Hindi | स्वोट अनालिसिस

स्वोट अनालिसिस: SWOT विश्लेषण एक रणनीतिक योजना और रणनीतिक प्रबंधन तकनीक है जिसका उपयोग किसी व्यक्ति या संगठन को व्यापार प्रतियोगिता या परियोजना योजना से संबंधित ताकत, कमजोरियों, अवसरों और खतरों की पहचान करने में मदद करने के लिए किया जाता है। इसे कभी-कभी स्थितिजन्य मूल्यांकन या स्थितिजन्य विश्लेषण कहा जाता है।

Table of Contents

SWOT विश्लेषण क्या है?What is SWOT Analysis details in Hindi

SWOT (ताकत, कमजोरियां, अवसर और खतरे) विश्लेषण एक ढांचा है जिसका उपयोग कंपनी की प्रतिस्पर्धी स्थिति का मूल्यांकन करने और रणनीतिक योजना विकसित करने के लिए किया जाता है। SWOT विश्लेषण आंतरिक और बाहरी कारकों के साथ-साथ वर्तमान और भविष्य की संभावनाओं का आकलन करता है।

एक SWOT विश्लेषण एक संगठन, पहल, या उसके उद्योग के भीतर की ताकत और कमजोरियों पर एक यथार्थवादी, तथ्य-आधारित, डेटा-संचालित नज़र को सुविधाजनक बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है। संगठन को पूर्व-कल्पित विश्वासों या धूसर क्षेत्रों से बचकर और वास्तविक जीवन के संदर्भों पर ध्यान केंद्रित करके विश्लेषण को सटीक रखने की आवश्यकता है। कंपनियों को इसे एक गाइड के रूप में इस्तेमाल करना चाहिए न कि एक नुस्खे के रूप में।

SWOT विश्लेषण कैसे करें?

SWOT विश्लेषण एक व्यवसाय के प्रदर्शन, प्रतिस्पर्धा, जोखिम और क्षमता का आकलन करने के लिए एक तकनीक है, साथ ही साथ एक उत्पाद लाइन या डिवीजन, एक उद्योग या अन्य इकाई जैसे व्यवसाय का हिस्सा है।

आंतरिक और बाहरी डेटा का उपयोग करके, तकनीक व्यवसायों को उन रणनीतियों की ओर मार्गदर्शन कर सकती है जिनके सफल होने की अधिक संभावना है, और उन लोगों से दूर जिनमें वे रहे हैं, या कम सफल होने की संभावना है। स्वतंत्र SWOT विश्लेषक, निवेशक, या प्रतिस्पर्धी भी उन्हें इस बारे में मार्गदर्शन कर सकते हैं कि कोई कंपनी, उत्पाद लाइन, या उद्योग मजबूत या कमजोर हो सकता है और क्यों।

SWOT स्वोट विश्लेषण क्या है? स्वोट विश्लेषण की विशेषताएँ

स्वोट विश्लेषण किसी विशेष परिस्थिति को मूल्यांकित करने की विश्लेषणात्मक प्रविधि है। स्वोट (SWOT) चार शब्दों का संक्षिप्त रूप है। S से तात्पर्य Strength अर्थात् शक्तिया, W से Weakness कमजोरिया, O से Opportunities अवसर तथा T से Threats चुनौतिया। किसी भी परिस्थिति के ये चार पक्ष होते हैं जो उसका समग्र विश्लेषण करने के लिए आवश्यक हैं। विभिन्न प्रकार के व्यावसायिक प्रबंधन के साथ-साथ शैक्षिक प्रबंधन में भी इसका महत्व बढ़ गया है।

स्वोट (SWOT) के चार पक्षों में से दो पक्ष, अवसर तथा चुनौतिया बां कारक हैं, जबकि शक्तिया तथा कमजोरिया आन्तरिक कारक हैं। शैक्षिक प्रबंधन तथा नियोजन की रणनीतियों में SWOT विश्लेषण की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।

किसी भी संगठन के समुचित विकास के लिए नियमित मूल्यांकन (continuous evaluation) आवश्यक है। वस्तुत: मूल्यांकन समग्र प्रबंधन प्रक्रिया का अविभाज्य अंग है। समुचित, वैध एवं विश्वसनीय मूल्यांकन किसी भी संगठन का सुदृढ़ आधर है, जिस पर किसी भी संगठन का भावी विकास निर्भर करता है।

SWOT स्वोट विश्लेषण की विशेषताएँ

  1. इसके आधर पर विद्यालयों में प्रशासनिक सिद्धांतों का प्रयोग किया जा सकता है।
  2. इसके आधर पर प्रशासक सहज ही अनुमान लगा लेते हैं कि विद्यालय प्रणाली की उप-प्रणालियों में कहा क्या कमी है व इसे केसे दूर किया जा सकता है।
  3. जो प्रबंधक, प्रणाली के दृष्टिकोण से संगठन में आने वाली समस्याओं को देखता है, वह आसानी से समस्या-समाधन के विकल्पों का पता लगा लेता है।
  4. प्रबंधक समस्या या विद्यालय पर डालने वाले प्रभावों (यथा संस्थागत, राजनीतिक, आर्थिक, सामाजिक व सांस्कृतिक) का विश्लेषण कर पाता है।
  5. यह एक ऐसा ढांचा है जिसके आधर पर शिक्षा जैसे जटिल संगठनों की समस्याओं को नियंत्रित किया जा सकता है तथा भविष्य में संबंध में निर्णय लिया जा सकता है।
  6. यह एक नया दृष्टिकोण प्रदान करता है कि फ्प्रबंधक एक समग्र प्रणाली के कार्य कर रहा है।
  7. यह पूर्व प्रबंध-नौकरशाही मान्यताओं के विपरीत, विद्यालय संगठन को एक गतिमान, परस्पर क्रियापूर्ण व तर्कसंगत व्यापक प्रणाली मान कर चलता है।
  8. इसके आधर पर शैक्षिक समस्याओं की पहचान कर उनका समाधन ढूढा जा सकता है, चाहे ये समस्याए गिरते शैक्षिक SWOT विश्लेषण क्या है स्तर, अनुशासन या अन्य किसी भी प्रकार की क्यों न हों। यही कारण है कि अनेक विद्वानों, यथा- कूट्ज तथा ओडोनेल (Koontz and O’Donnel, 1976) ह्यूज तथा बोडिच (Huse and Bowdetch, 1977) एवं वुड निकल्सन तथा पिफन्डले (Wood Nicholson and Findley, 1979)

स्वाॅट विश्लेषण किसे कहते हैं ? What is SWOT Analysis ?

व्यवसाय के विकास एवं किसी नई परियोजना के लिए व्यवसाय के बाहरी पर्यावरण का अध्ययन करते हुए व्यवसाय की शक्तियों, दुर्बलताओं, अवसरों एवं चुनौतियों का विश्लेषण करना स्वॉट विश्लेषण (SWOT Analysis) कहलाता है ।

1. उद्यम की शक्तियों का विश्लेषण (Analysis of Strengths of Venture) :- किसी भी व्यवसाय या उद्यम की शक्तियों का पता इससे चलता है कि वह अपने प्रतिद्वंदियों से किस प्रकार की प्रतिस्पर्धा करता है और किस तरह से बाजार में अभी भूमिका निर्धारता करता है या अपना महत्व बनाए रहता है । SWOT Analysis के इस तत्व से बाजार में संस्था की महत्ता का पता लगाया जाता है ।

2. उद्यम की दुर्बलताओं का विश्लेषण (Analysis of Weaknesses of Venture) :- उद्यम या व्यवसाय की दुर्बलता से आशय यह है कि वह अपने प्रतिद्वंदियों से प्रतिस्पर्धा नहीं कर SWOT विश्लेषण क्या है पा रहा । अपने माल या सेवा को ठीक ठीक बेच नहीं पा रहा । दुर्बलताओं से यह पता चलता है कि संस्था का बाजार में ज्यादा महत्व नहीं है ।

स्वॉट विश्लेषण क्या होता है

एक छात्र के रुप में सफल होने के लिए आपको एक विशेष रणनीति की आवश्यकता होती है। रणनीतिक निर्णय लेते समय, विचार करने के लिए बहुत सारे कारक होते हैं। संबंधित परिस्थितियों, विकल्पों और आंकड़ों से अभिभूत होना आसान है। स्वॉट आंतरिक विशलेषण है। इसकी सहायता से हम अपनी खुबियों, कमजोरियों, अवसरों और चुनौतियों के बारे में जान सकते है । इसमें हमें अपने आप से कुछ SWOT विश्लेषण क्या है सवाल पुछकर उनका उत्तर देना है। सामान्य तौर पर यह पाया गया है कि जितनी आसानी से हम दुसरों की कमियों और खुबियों का मुल्यांकन कर सकते उतनी आसानी से स्वयं का मुल्यांकन नहीं कर पाते है। परन्तु ये बात भी सच है कि जितनी सटीकता और वास्तविकता से हम अपना मुल्यांकन कर सकते है ऐसा ओर कोई दूसरा व्यक्ति नहीं कर सकता है। हमारी खुबियां और कमियां हम से बेहतर भला और कौन जान सकता है ?

स्वॉट (SWOT) में व्यवसाय उद्यम या परियोजना का लक्ष्य उल्लिखित करना और आंतरिक और बाह्य कारक, जो उस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अनुकूल और प्रतिकूल हैं, उनको पहचानना शामिल है। एसडब्ल्यूओटी ये चार श्रेणियां वर्णन करती हैं कि क्या निर्णय का एक पहलू नकारात्मक या सकारात्मक है, और क्या यह संगठन के लिए बाहरी या आंतरिक है। गहन स्वॉट विश्लेषण ध्वनि रणनीतिक योजना की रीढ़ हो सकती है। आप सही रुप से स्वॉट का अनुसरण करके अपने करियर को एक नई दिशा दे सकते हैं। स्वॉट ना केवल आपकी कमजिरयों औऱ शक्तियों को बताता है बल्कि यह आपको भय और आप क्या करना चाहते हैं उसे भी बताता है। आपको आपके लक्ष्य के प्रति एकाग्र करने में स्वॉट अहम भूमिका अदा करता है।

स्वॉट का मूल्याकंन कैसे करें

एक अच्छा SWOT विश्लेषण सही प्रश्न पूछने से शुरू होता है। नीचे एक खाका है जिसे आपने अपने स्वॉट विश्लेषण पर शुरू किया है। जैसे कि आप इसे पूरा करते समय अपने आप से निम्नलिखित प्रश्न पूछने का प्रयास करें, और उपयुक्त सेल में प्रत्येक के लिए सबसे मुख्य जवाब की कल्पना करें। जितना हो सके, दिमाग पर जोर डालें। प्रत्येक चतुर्थांश के लिए चार या पांच वस्तुओं पर ध्यान देने की कोशिश करें। इसके अलावा, विशिष्ट और ठोस रहें, अस्पष्ट बयानों से बचें।

SWOT स्वॉट विश्लेषण इतना प्रभावशाली होता है कि इससे आपको नए करियर के अवसर ढूंढ़ने में सहायता मिल सकती है और आप अच्छी तरह से इनका उपयोग कर सकते हैं। साथ ही आप अपने आप के कमजोर बिंदुओं को समझकर, बिना निष्क्रिय रहे इन जोखिमों को संभाल सकते हैं और इनका निवारण कर सकते हैं। सबसे पहले एक पेन और कागज साथ में लें और किसी एकान्त और शांत जगह पर चले जाएं । यह शांत जगह आपका कमरा, छत, कुछ भी हो सकती है । अब कागज को चार बराबर हिस्सों में बांट लें और उसके चार भागों में अंग्रजी के अक्षर S (Strengths) ताकत, W (Weaknesses) कमजोरियां, O (Opportunities) अवसर और T (Threats) खतरें को लिखें । इसमें से पहले और तीसरे हिस्से वाली चीजें आपके लिए उपयोगी है तथा दुसरे और चौथे हिस्से वाली चीजें कि नुकसानदायी हो सकती है।

What Is Swot Analysis In Hindi? - Swot Analysis क्या है?

Swot Analysis याने स्वॉट विश्लेषण यह एक तकनीक है, जिसका उपयोग व्यक्ति, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प में प्रतिस्पर्धा या परियोजना नियोजन से संबंधित Strength(ताकत ), Weaknesses(कमजोरी), Opportunities(अवसर) और Threats(खतरा) को मूल्यांकन करने, उजागर करने और पहचानने के लिए किया SWOT विश्लेषण क्या है जाता है।

स्वॉट विश्लेषण तकनीक से हम व्यक्ति, संगठन, व्यवसाय या किसी भी शैक्षणिक समुदाय के आंतरिक और बाहरी विचारों, घटकों या कारकों के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते है, जिससे उनका मूल्यांकन करने में हमें आसानी होती है। इसके अनुसार हम अपने दोष को सुधारने के लिए नए नए तंत्र और प्रक्रिया को उजागर कर सकते हैं, और आप अपने आप को आंतरिक चुनौतियों और बाहरी अवसरों के लिये तैयार करते हैं।

SWOT Analysis Full Form

Swot Full Form: Strengths, Weaknesses, Opportunities, and Threats analysis

Swot Analysis के उद्देश्य - Internal and external factors

स्वॉट एनालिसिस याने स्वॉट विश्लेषण का उद्देश्य आंतरिक और बाह्य कारकों की पहचान करना है, जो किसी भी संस्था या संगठन को लक्ष्य प्राप्त करने के लिए महत्वपूर्ण होता हैं। यह स्वॉट विश्लेषण संस्था, संगठन या व्यवसाय की मूल्य श्रृंखला के भीतर से आते हैं।

SWOT समूह दो मुख्य श्रेणियों में डाले जाते हैं, जो 'Internal factors(आंतरिक कारक)' और 'External factors(बाह्य कारक)' है:

  • Internal factors (आंतरिक कारक): शक्तियां और कमजोरियां जो एक संगठन के लिए आंतरिक है।
  • External factors (बाह्य कारक): बाहरी वातावरण द्वारा प्रस्तुत अवसर, चुनौतियाँ और खतरे।

संस्था, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प के उद्देश्यों और उनके प्रभाव के आधार पर आंतरिक कारकों को शक्ति या कमजोरियों के रूप में देखा जा सकता है। इन कारकों में कर्मचारी वर्ग, वित्तीय, विनिर्माण क्षमताएं और कई अन्य SWOT विश्लेषण क्या है भी शामिल हो सकते हैं। बाह्य कारकों में सामाजिक और सांस्कृतिक परिवर्तन, व्यापक आर्थिक मामले, तकनीकी बदलाव, विधान के साथ SWOT विश्लेषण क्या है ही साथ बाजार एवं प्रतियोगी स्थिति में परिवर्तन शामिल हो सकते हैं।

SWOT Anyalsis कैसे लागु करे?

  • SWOT विश्लेषण के उद्देश्य पर निर्णय लें।
  • अपने संस्था के लिए जोखिम प्रबंधन योजना तैयार करने का तरीका जानें।
  • अपने संगठन, व्यवसाय, उद्योग और बाजार पर शोध करें।
  • व्यवसाय की खूबियों को सूचीबद्ध करें।
  • अपने संगठन, व्यवसाय, उद्योग की कमजोरियों को सूचीबद्ध करें।
  • संभावित अवसरों की सूची बनाएं।
  • संभावित खतरों की सूची बनाएं।
  • SWOT में मुद्दों को हल करने के लिए एक रणनीति विकसित करें।

Swot Analysis याने स्वॉट विश्लेषण यह संस्था, संगठन, व्यावसायिक, शैक्षणिक समुदाय या प्रकल्प को अपने लक्ष्यों को हासिल करने में और योग्य बनाने के लिए, रणनीति और योजनाओं को विकसित करने के एक हिस्से के रूप में काम करता है और यह तकनीक पर्यावरण और व्यापार कारकों को विश्लेषण और मूल्यांकन के लिए एक आधार के रूप में उपयोग किया जा सकता है।

Swot Analysis के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - FAQ

1. स्वॉट विश्लेषण क्या है?
Swot analysis या स्वॉट विश्लेषण एक रणनितिक योजना है जो व्यवसाय और संगठन के विपणन और प्रबंधन के लिए काफी उपयोगी होती है।

2. स्वॉट विश्लेषण का क्या उपयोग है?
स्वॉट विश्लेषण (SWOT Analysis) का उपयोग किसी भी प्रकार के संगठन के सामर्थ्य, कमजोरियों, अवसरों और खतरों का मूल्यांकन करने, प्रकाश डालने और पहचान करने के लिए किया जाता है।

3. Swot का क्या अर्थ है?
Swot का अर्थ S: Strength (ताकत, सामर्थ्य), W: Weaknesses (कमजोरी), O: Opportunities (अवसर), T: Threats (खतरा) होता है, और यह SWOT Analysis शब्द 1960 के दशक में अल्बर्ट हम्फ्री द्वारा गढ़ा गया था।

4. स्वॉट विश्लेषण को कैसे लागु करे?
स्वॉट विश्लेषण के उद्देश्य पर निर्णय लें, संगठन, व्यवसाय, उद्योग और बाजार पर शोध करें, व्यवसाय की खूबियों और कमजोरियों को सूचीबद्ध करें, संभावित अवसरों और खतरों की सूची बनाएं और Swot तकनीक में इन मुद्दों को हल करने के लिए एक रणनीति बनाये।

रेटिंग: 4.68
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 318
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *